BiographiesHistory

गयासुद्दीन गाजी का इतिहास

गंगाधर नेहरू  (1827 – 4 फरवरी 1861)कहा जाता है उनका मूल नाम गयासुद्दीन गाजी था। एक भारतीय पुलिस अधिकारी थे, जिन्होंने 1857 के भारतीय विद्रोह के बाद इस पद को समाप्त होने  से पहले मुगल सम्राट बहादुर शाह द्वितीय के दरबार में दिल्ली (पुलिस प्रमुख) के रूप में कार्य किया था।

वह भारतीय स्वतंत्रता सेनानी मोतीलाल नेहरू के पिता और भारत के पहले प्रधानमंत्री, जवाहरलाल नेहरू के दादा थे, और इस तरह नेहरू-गांधी परिवार का हिस्सा थे

गयासुद्दीन गाजी का जीवन

19 वीं शताब्दी के शुरुआती दौर में, गंगाधर के पिता, लक्ष्मी नारायण नेहरू, ने ईस्ट इंडिया कंपनी के लिए दिल्ली में एक मुंशी के रूप में काम किया था। गंगाधर नेहरू को मुगल सम्राट बहादुर शाह द्वितीय के दरबार में दिल्ली के कोतवाल (पुलिस प्रमुख के समान रैंक) नियुक्त किया गया था।वह इस पद पर काम करने वाले आखिरी व्यक्ति थे क्यूंकि 1857 के भारतीय विद्रोह के परिणामस्वरूप इस पद को समाप्त कर दिया गया था। बाद में जब ब्रिटिश सैनिकों ने शहर में शेलिंग बढ़ाई , तो वह अपनी पत्नी जियारानी और अपने चार बच्चों (दो किशोर पुत्रों, बंसीधर और नंदलाल और दो बेटियों, पटरानी और महारानी) के साथ आगरा भाग गए।

उनका सबसे छोटा बच्चा, मोतीलाल, उनके मरने के तीन महीने बाद पैदा हुआ था। गंगाधर के सबसे बड़े पुत्र, बंसी धर नेहरू ने ब्रिटिश सरकार के न्यायिक विभाग में काम किया और विभिन्न स्थानों पर क्रमिक रूप से नियुक्त होने के कारण, परिवार के बाकी सदस्यों से आंशिक रूप से कट गए। दूसरा बेटा, नंदलाल, एक भारतीय राज्य की सेवा में प्रवेश किया और दस वर्षों तक राजपूताना में खेतड़ी राज्य का दीवान था। बाद में उन्होंने कानून की पढ़ाई की और आगरा में एक प्रैक्टिसिंग वकील के रूप में बस गए।

गयासुद्दीन गाजी पर षड्यंत्र सिद्धांत

एक षड्यंत्र का सिद्धांत कहता है कि गंगाधर नेहरू(जवाहरलाल नेहरू के दादा  ) का मूल नाम ग़यासुद्दीन गाज़ी था। कहा जाता है,1857  में,शहर के कोतवाल गयासुद्दीन गाजी, अपने परिवार के साथ दिल्ली से भाग गए थे क्यूंकि उन्हें और उनके परिवार को उग्र ब्रिटिश सैनिकों के कब्जे में आने का डर था।  उन्हें कथित तौर पर आगरा में ब्रिटिश सैनिकों द्वारा रोका गया था क्योंकि उन्होंने एक मुगल  व्यक्ति के जैसे पोशाक पहनी थी । लेकिन वह उन्हें यह कहकर चकमा देने में कामयाब की चकमा देने में कामयाब रहा कि वह एक कश्मीरी हिंदू था जिसका नाम पंडित गंगाधर नेहरू था।

#सम्बंधित:- आर्टिकल्स

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close
Close