Analysis

क्या है आरोग्य सेतु एप्प, यह कैसे काम करता है, आपको जानना चाहिए…

nationalherald%2F2020 04%2F0bc4d422 76da 4894 bb86 3f7006189bb4%2FAarogya Setu.jpg?rect=84%2C0%2C1116%2C628&auto=format%2Ccompress&w=400&dpr=2

जैसा कि हम सभी जानते हैं दुनियाभर में करीना वाइरस फैलता जा रहा है और भारत में भी इसके संक्रमित लोगों का आंकड़ा वक लाख से ऊपर जा चुका है। इसको ध्यान में रखते हुए हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में देश को संबोधित करते हुए कहा था कि जिस तेज़ी से इस ख़तरनाक बीमारी के मामले बढ़ रहे हैं, ऐसे में लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला सही है। इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने सभी देशवासियों को आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल करने की सलाह दी है। इस एप को सरकार ने कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए बनाया है।

आरोग्य सेतु एप्प क्या है?

कोरोना वायरस तेज़ी से फैल रहा है और एक्सपर्ट्स का कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग यानी सामाजिक दूरी बनाने का इस्तेमाल बीमारी या इंफेक्शन को फैलने से रोकने के लिए कई सालों से किया जा रहा है।

इसलिए आरोग्य सेतु जैसी एप्स एक इनोवेटिव सॉल्यूश है, जो सामाजिक दूरी जैसे विचार को बढ़ावा देती है और अधिकारियों को आबादी को जागरूक करने और उनकी ज़िंदगी बचाने में मदद कर सकती है।

अगर सिर्फ भारत की बात करें, तो क्या पिछले दो हफ्तों में तेज़ी से कोरोना वायरस के मामले बढ़े हैं। जिसकी वजह से और भी कड़े कदम उठाने की ज़रूरत पड़ी है। इंफेक्शन के हॉटस्पॉट्स के बारे में पता लगाया, जिससे कम्यूनिटी ट्रांसमिशन के संकट से बचने में मदद मिलेगी।

यहाँ कम्यूनिटी ट्रांसफर का मतलब होता है, जब इंफेक्शन लोगों में फैलता जाता है और ये कैसे फैल रहा है उसका पता लगाना नामुमकिन हो जाता है। इसको महामारी की तीसरी स्टेज कहा जाता है।

आरोग्य सेतु एप्प का काम क्या है?

इस एप्लिकेशन को कोरोना वायरस ट्रैकर के रूप में बनाया गया है, ये संपर्क ट्रेसिंग के आधार पर काम करता है और उपयोगकर्ता को उसके क्षेत्र के आसपास संभावित वायरस ‘हॉटस्पॉट’ की पहचान करने में मदद कर सकता है। ये लोगों को सुरक्षित रहने में मदद करता है और साथ ही बचाव में भी मदद करता है।

इस तरह इस एप की मदद से कम्यूनिटी ट्रांसमिशन को काफी हद तक रोका जा सकता है। जियोटैगिंग के आधार पर, यह एक विशिष्ट उपयोगकर्ता को पास के संक्रमण के मामले या हॉटस्पॉट से उनकी निकटता के बारे में सचेत कर सकता है।

इसके अलावा और क्या करें?

कोरोना को हराने के लिए इस एप्प के इस्तेमाल के अलावा, आप खुद को और अपने परिवार को इस जानलेवा वायरस से बचाने के लिए सुरक्षा के उपाय अपनाएं और दिशानिर्देशों का पालन करें। अपने हाथों को दिन में कई बार साफ करें, घर की सतह को सैनीटाइज़ करें और जब तक ज़रूरी न हो, घर के बाहर न जाएं।

अगर आपके घर में किसी को या आपको खुद कोरोना वायरस के लक्षण महसूस हों, तो मास्क ज़रूर पहनें। साथ ही छोटे बच्चों, बुज़ुर्गों और पहले से बीमार लोगों का खास ख्याल रखें। तभी तो हारेगा कोरोना, जीतेगा इंडिया…

Tags

Javed Ali

जावेद अली जामिया मिल्लिया इस्लामिया से टी.वी. जर्नलिज्म के छात्र हैं, ब्लॉगिंग में इन्हें महारथ हासिल है...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close
Close