quotesgandhi jayantiIndian culture

महात्मा गांधी के विचार :जानिए, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर महात्मा गांधी के विचार..

महात्मा गांधी के विचार : भारत ने तमाम ऐसे संतों, ऋषियों तथा नायकों को जन्म दिया है. जिनका कायल केवल भारत ही नहीं पूरा विश्व भी है लेकिन तमाम व्‍यक्‍तित्‍व का एक रूप मोहनदास करमचंद गांधी  में मौजूद मिलता हैं. इस फानी दुनिया को अलविदा कहे जमाना हो गया गाँधी को, लेकिन आज भी और आने वाले ज़माने के लिए गाँधी प्रेरणास्रोत बने हुए और रहेंगे. जो स्वच्छ और सरल जीवन के प्रतीक थे.

महात्मा गांधी  के विचार
गूगल का आभार = गाँधी की तस्वीर

अपनी किताब ‘Key to Health’में, गांधी ने विचारों और अपनी समझ स्वास्थ्य के बारे में लिखा है.  गाँधी जी ने कहा था कि “मानव शरीर पांच तत्वों से बना है जिन्हें प्राचीन दार्शनिकों ने पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और अंतरिक्ष के रूप में वर्णित किया है. उनके मुताबिक़ , तंदरुस्त  रहने के लिए, इन तत्वों के बीच तालमेल बैठना बहुत जरुरी है.

महात्मा गांधी  के विचार
किताब गाँधी जी द्वारा लिखी गयी है.

ये करें

गाँधी जी ने  शाकाहार के महत्व दिया है वही, रात को जल्‍दी सोने और सुबह जल्दी उठने के महत्व सामने रखा है तथा, योग का अभ्यास करने, और नशीले पेय और दवाओं से परहेज करने के बारे में भी लिखा है.

अपना लें उदाहरण…

इसमे तामा दिये गये उदाहरण हैं. जिन्‍हें हम स्वस्थ, खुशहाल और सामंजस्यपूर्ण जीवन जीने के लिए अपना सकते हैं. वो समझते थे कि अच्छे स्वास्थ्य से बढ़कर कोई भी चीज़ मूलयवान नहीं हैं. उन्होंने ये ख़ुद महसूस किया कि दुनिया में हर चीज का उपयोग और दुरुपयोग किया जा सकता है और यह हमारे शरीर पर भी लागू होता है.

अपनी किताब में गाँधी जी ने लिखा है कि भोजन को जिम्मेदारी के तौर पर लिया जाना चाहिए, और वहीं शरीर को सही से काम करने के लिए इसे दवाई के तौर पर भी लेना तथा खाना को केवल स्वाद को मारने के लिए नहीं खाना चाहिए.

गाँधी कहते हैं अंदर से बाहर की सफाई उनका मंत्र था. उन्होंने दावा किया कि बीमारी का सबसे महत्वपूर्ण कारण भारत में शौच के निपटारे का दोषपूर्ण और हानिकारक तरीका है. गंदे शौचालय और खुले में शौच करना कई बीमारियों के लिए जिम्मेदार रहे हैं.

 ऐसी स्थितियों में सुधार के लिए, अफ्रीका और अहमदाबाद में गांधी ने एक समिति का गठन किया, जहां स्वयंसेवक हर गली और नुक्कड़ पर जाकर स्वयंसेवक लोगों को  साफ़ सफाई  की जांच करते थे और इसके बारे में उन्हें सीखते पढ़ाते.

“स्वच्छता स्वतंत्रता से अधिक महत्वपूर्ण है।”

                                         – महात्मा गांधी

#सम्बंधित:- आर्टिकल्स

        

Tags

Farhan Hussain

फरहान जामिया से टी.वी पत्रकारिता की पढाई कर रहे हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close
Close