Indian cultureReligion

मुस्लिम क्यों मनाते हैं रमज़ान, आखिर क्या है रमज़ान का इतिहास…

भारत समेत दुनिया के अन्य देशों में मुस्लिमों द्वारा अल्लाह के प्रति श्रद्धा हेतु रमजान के पवित्र महीने में रोजे रखे जाते है। मुसलमानों द्वारा ईश्वर के प्रति अपनी कृतज्ञता को प्रकट करने हेतु रमजान में रोजे रखे जाते हैं। मुस्लिम समुदाय के इस पावन पर्व में रमजान के महीने अर्थात “इबादत का महीने” कहे जाने वाले इस महीने की शुरुआत कब हुई? मुस्लिम समुदाय द्वारा रोजे रखने का क्या कारण है? रमजान के इतिहास तथा रोजे रखने का क्या महत्त्व है? आइए जानते हैं…

रमज़ान या रमदान (उर्दू – अरबी – फ़ारसी) इस्लामी कैलेण्डर का नवां महीना होता है। मुस्लिम समुदाय इस महीने को परम पवित्र मानते हैं। रमजान शब्द अरबी भाषा का शब्द है, अर्थात यह एक अरेबिक शब्द है जिसका अर्थ है कि “चिलचिलाती गर्मी तथा सूखापन”।

Tags

Javed Ali

जावेद अली जामिया मिल्लिया इस्लामिया से टी.वी. जर्नलिज्म के छात्र हैं, ब्लॉगिंग में इन्हें महारथ हासिल है...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close
Close