AnalysisBiographies

जानिए भारतीय राजनीति के फायर ब्रॉड नेता राज ठाकरे की जिन्दगी से जुड़े पहलूओं के बारे में……….

महाराष्ट्र की राजनीति में अपने विवादित बयानों के कारण हमेशा चर्चा में बने रहने वाले राज ठाकरे एक जाना पहचाना नाम है। जिन्होंने अब शिवसेना से अलग होकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) का गठन कर लिया है। आगामी 14 जून को वह अपना 52वां जन्मदिन मनाने जा रहे है। इस मौके पर आइए जानते है उनकी जिन्दगी से जुड़ी कुछ सुनी-अनसुनी बातें।

व्यक्तिगत जिन्दगी के बारे में

127242 qaszchpjwn 1568260797
उद्दव ठाकरे और राज ठाकरे

महाराष्ट्र के प्रसिद्ध मराठी कायस्थ परिवार में 14 जून 1968 को जन्मे राज ठाकरे का पूरा नाम स्वराज केशव ठाकरे है। इनके पिता श्रीकांत ठाकरे जोकि एक संगीतकार, कार्टूनिस्ट और उर्दू के प्रसिद्ध शायर थे, शिवसेना प्रमुख बालासाहेब के छोटे भाई है। अपने पिता की तरह ही राज ठाकरे भी राजनीति में आने से पहले एक कार्टूनिस्ट थे। साथ ही इन्होंने अपने चाचा केशव बाल ठाकरे के ऊपर एक फोटो जीवनी भी प्रकाशित की है। इनकी माता का नाम कुंदा ठाकरे है। वहीं इनकी पत्नी शर्मिला और बेटा अमित ठाकरे और एक बेटी उर्वशी ठाकरे है। इन्होंने अपना स्नातक प्रतिष्ठित जे जे कॉलेज ऑफ आर्ट से पूरा किया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वर्तमान में महाराष्ट्र की सत्ता में विराजमान उद्धव ठाकरे इनके चचेरे भाई है।  

सोनाली बेंद्रे और राज ठाकरे की प्रेम कहानी

x1080
राज ठाकरे और सोनाली बेंद्रे

कहते है कि सच्चा प्यार बड़ी मुश्किल से मिलता है। और अगर बात सत्ता और परिवारिक प्रतिष्ठिता की हो, तो परेशानियां और अधिक बढ़ जाती है। कुछ ऐसा ही राज ठाकरे औऱ 90 के दशक की खूबसूरत अदाकारा सोनाली बिद्रें की प्रेम कहानी में हुआ। अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे को बॉलीवुड में काम भले ही राज ठाकरे के कारण मिला हो, लेकिन राज ठाकरे शादीशुदा होने की वजह से सोनाली बिंद्रे के हमसफर न बन सके। इसके अलावा परिवार की राजनीतिक प्रतिष्ठता के चलते भी उन्होंने सोनाली बेंद्रे के साथ शादी का विचार त्याग दिया। हालांकि सोनाली बेंद्रे और राज ठाकरे आज भी अच्छे दोस्त है।

राजनीतिक गातिविधियां

राज ठाकरे ने शिवसेना के साथ मिलकर अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की। लेकिन वर्तमान में शिवसेना के कांग्रेस एनसीपी के साथ मिल जाने के बाद राज ठाकरे ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का गठन किया। हालांकि राज ठाकरे की राजनीति कुछ अब फीकी पड़ चुकी है। लेकिन उत्तर भारतीयों और मराठियों के लिए किए गए कार्यों के चलते आगामी चुनावों में इसका फायदा मिल सकता है। इन्होंने महाराष्ट्र में औद्योगिक निर्माण के चलते उद्योग सेना का गठन भी किया था।

राज ठाकरे के बिगड़े बोल

अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते चर्चा का विषय बनने वाले राज ठाकरे ने कई बार ऐसे बयान दिए, जिसने फिजा का माहौल बिगाड़ दिया। आपको बता दें कि असुद्दीन औवेसी के भारत माता की जय न बोलने वाले विवादित बयान पर राज ठाकरे ने कहा था कि यदि वह भारत आ जाए तो वह उनके गले पर चाकू रख देंगे। इसके अलावा राज हमेशा गैर मराठों पर हमला बोलते है, जिस कारण उऩ्होंने एक बार गैर मराठी ऑटो चालकों को गोली मार देने को कह दिया था। इतना ही नहीं उन्होंने महाराष्ट्र के दुकानदारों को मराठी का बोर्ड लगाने को कहा था, नहीं तो उनकी दुकानें को तोड़ने की धमकी दी थी।

साथ ही राज ठाकरे अक्सर बॉलीवुड एक्टरर्स को लेकर बड़े बयान देते रहते है। जिसमें अभिनेता शाहरूख खान द्वारा सूखे के समय मदद न करने पर उन्होंने शाहरूख की फिल्म दिलवाले को रिलीज न होने देने की बात कही थी। वहीं अभिनेता सलमान खान के आंतकवादी याकूब मैनन के समर्थन में ट्वीट करने पर बिना दिमाग वाला आदमी कह दिया था। इसके अलावा बॉलीवुड के बिग बी यानि अभिताभ बच्चन की फिल्मों को भी न रिलीज होने देने की बात कही थी।

सीएए का समर्थन

2 08 37 28 Raj Thackeray extends support to CAA NRC in huge rally 1 H@@IGHT 675 W@@IDTH 900
सीएए का समर्थन करते राज ठाकरे

सीएए का विरोध करने वाले मुसलमान ऐसा क्यों कर रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून उन मुस्लिमों के लिए नहीं है जिनका जन्म भारत में हुआ है। आप लोग किसे अपनी ताकत दिखाना चाहते हैं?

 -आजाद मैदान में रैली के दौरान राज ठाकरे का बयान

राज ठाकरे ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ मुसलमानों द्वारा देश की राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में किए गए आंदोलन को लेकर भी बड़ा बयान दिया था। वहीं राज ठाकरे देश में रह रहे बांगलादेशी घुसपैठियों को भी भारत से बाहर निकालने की मांग कर चुके है।

प्रवासी मजदूरों को लेकर दिया बड़ा बयान

लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अन्य प्रदेशों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को पहले पंजीकरण करवाने के लिए कहा था। जिस पर राज ठाकरे ने एक बयान में कहा था कि महाराष्ट्र सरकार को भी इस तरह की बातों को गंभीरता से लेना चाहिए। कोई भी मजदूर जो महाराष्ट्र में अन्य प्रदेशों से काम करने के लिए आएंगे, उन्हें सरकार के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन के पास भी पंजीकरण कराना अनिवार्य़ होगा।

कार्टूनिस्ट के रूप में निखारी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता

download
राज ठाकरे द्वारा बनाया गया कार्टून

गांधी जयंती के अवसर पर राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री मोदी और महात्मा गांधी का एक कार्टून बनाकर फेसबुक पर शेयर किया। जिसमें उन्होंने गांधी जी के हाथ में रखी किताब जिसका नाम सत्य के साथ मेरे प्रयोग था। वहीं प्रधानमंत्री मोदी के हाथ में रखी किताब का नाम झूठ के साथ मेरे प्रयोग कर पीएम पर निशाना साधा। साथ ही फोटो के नीचे लिखा एक ही मिट्टी के दो लोग। इससे पहले भी राज ठाकरे प्रधानमंत्री मोदी को लेकर कार्टून शेयर कर चुके है। एक बार इन्होंने एक कार्टून में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम जोकि प्रधानमंत्री मोदी को पाकिस्तान से खींचता हुआ भारत लेकर आ रहा था, अपनी फेसबुक पर शेयर किया। जिसमें लिखा कि पीएम मोदी कह रहे है कि देखो लाया कि नहीं खींचते हुए। राज ठाकरे का मानना है कि अभिव्यक्ति की आजादी के तहत वह ऐसा कर रहे है।

Tags

Anshika Johari

I am freelance bird.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close
Close